Thursday, November 05, 2009

दिखने वाली शायरी बिगड़ैलों के लिये (Visual Shayari Bigdaulo ke liye)

image010

4 comments:

  1. हा हा हा हा हा हा हा ...ग्रेट...
    नीरज

    ReplyDelete
  2. पूत के पांव पालने में ही नज़र आ रहे हैं...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
  3. शावाश बॆटा बाप का नाम रॊशन जरुर करोगे

    ReplyDelete

आपकी बहुमूल्य टिप्पणी दीजिये

Followers

Network Blogs

Google+ Followers

UA-1515027-2